Categories: Feng Shui

बेडरूम के लिए वास्तु टिप्स

बेडरूम वो जगह है जहां इंसान दिन भर की थकान उतारता है। इसीलिए एक बेडरूम का आरामदायक होना बहुत ज़रूरी है। वास्तु शास्त्र का विज्ञान किसी स्थान पर ब्रह्मांडीय ऊर्जा के प्रवाह पर आधारित है। इस ऊर्जा का संतुलन यदि सही हो तो उस स्थान पर निवास करने वाले व्यक्तियों को इसका लाभ मिलता है और उन्हें ज़िंदगी में सुख-शांति की प्राप्ति होती है। इसके विपरीत यदि किसी जगह की ब्रह्मांडीय ऊर्जा असंतुलित हो तो वहाँ रहने वाले वासियों को कई प्रकार की दिक्कतों  और बाधाओं का सामना करना पड़ सकता है।

वास्तु के अनुसार बेडरूम की दिशा
दक्षिण-पश्चिम में बेडरूम, घर के मालिक के लिए, अच्छा स्वास्थ्य और समृद्धि लाता है और दीर्घायु को बढ़ाता है। घर के उत्तर-पूर्व या दक्षिण-पूर्व क्षेत्र में बेडरूम बनवाने से बचें। दक्षिण-पूर्व का बेडरूम पति-पत्नी के बीच झगड़े करवा सकता है। उत्तर-पूर्व में बेडरूम स्वास्थ्य समस्या का कारण हो सकता है। बच्चों का बेडरूम घर के पूर्व या उत्तर-पश्चिम क्षेत्र में सबसे अच्छा माना जाता है।

इसके अलावा, उत्तर में बेडरूम हर किसी के लिए भाग्यशाली माना जाता है। यह विशेष रूप से उन युवा छात्रों के लिए बहुत भाग्यशाली माना जाता है जो नौकरी या व्यवसाय के अवसरों की तलाश में हैं।

वास्तु के अनुसार बेड प्लेसमेंट
वास्तु के अनुसार, बिस्तर का सिरहाना पूर्व या दक्षिण की होना चाहिए।
वास्तु के अनुसार बेड प्लेसमेंट महत्वपूर्ण है क्योंकि यह परिवार की नींद की गुणवत्ता और स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। बिस्तर को दक्षिण या पश्चिम में दीवार से सटाकर रखा जाना चाहिए ताकि जब आप लेट जाएं तो आपके पैर उत्तर या पूर्व की ओर हों।

बेडरूम में अलमारी कहाँ रखें

अलमारी जैसी भारी वस्तुओं को आपको बेडरूम के दक्षिण, दक्षिण-पश्चिम या पश्चिम दिशा में रखनी चाहिए। दक्षिण की दीवार की ओर तिजोरी रखने की कोशिश करें और सुनिश्चित करें कि वह उत्तर की ओर खुले। यह बहुत ही शुभ साबित होगा। आप वार्डरोब को उत्तर-पश्चिम दिशा में भी रख सकते हैं। ये दिशाएं सकारात्मक ऊर्जा के प्रवाह को बढ़ाती हैं।
ध्यान रखें कि अलमारी या आलमीरा के दरवाजों पर दर्पण नहीं लगाना चाहिए क्योंकि यह नकारात्मक ऊर्जा को दर्शाता है। हालाँकि, आप उन्हें कॉम्पैक्ट बेडरूम के मामले में रख सकते हैं, बस यह सुनिश्चित कर लें कि दर्पण बिस्तर को प्रतिबिंबित नहीं करता है क्योंकि यह कमरे का उपयोग करने वाले व्यक्ति के लिए बुरी किस्मत ला सकता है।

वास्तु के अनुसार बेडरूम के लिए कुछ अन्य टिप्स

  • लकड़ी से बना बिस्तर सबसे अच्छा माना जाता है। धातु से बना बेड नकारात्मक कंपन पैदा कर सकता है।
  • बेडरूम में टेलीविज़न और उपकरणों से बचना सबसे अच्छा है, क्योंकि ये ऐसी ऊर्जाएँ पैदा करते हैं जो आपकी नींद में खलल डाल सकती हैं। लेकिन, यदि कमरे में टीवी रखना ज़रूरी हो, तो सुनिश्चित करें कि वह दक्षिण-पूर्व दिशा में हो।
  • बेड को बाथरूम के ठीक सामने न रखें और बाथरूम का दरवाजा हर समय बंद रखें।
  • घर के केंद्र में बेडरूम नहीं होना चाहिए।
  • बिस्तर के ठीक सामने दर्पण न रखें। इससे स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।
Share
Aaradhi

Recent Posts

धनतेरस पर न खरीदें ये 10 चीजें

धनतेरस खरीदारी का दिन है। आने वाली दिवाली के लिए और एक शुभ दिन होने के कारण, लोग इस दिन…

3 months ago

नरक चतुर्दशी – महत्व और अनुष्ठान

नरक चतुर्दशी - महत्व और अनुष्ठान दिवाली भारत में मनाए जाने वाले सबसे प्रमुख त्योहारों में से एक है। रोशनी…

3 months ago

धनतेरस क्यों मनाया जाता है

धनतेरस को धनत्रयोदशी के नाम से भी जाना जाता है।  यह दिवाली के त्योहार का पहला दिन है। यह पर्व…

3 months ago

दिवाली मनाने के 15 तरीके

दिवाली उत्तर भारत के हिंदुओं के लिए साल के सबसे बड़े पर्वों में से है। रोशनी का यह त्योहार ढेर…

3 months ago

कैसे मनाया जाता है दशहरा

विजयदशमी, जिसको दशहरा भी कहा जाता है, हर साल नवरात्रि के अंत में मनाया जाने वाला एक प्रमुख हिंदू त्योहार…

3 months ago

बंगाल की दुर्गा पूजा से संबन्धित कुछ अनूठी रिवाजें

बंगाल की दुर्गा पूजा पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है। इस अवसर पर सुंदर मूर्तियों से सजे पंडालों में लाखों भक्तों…

3 months ago

This website uses cookies.